hindisamay head
आइए पढ़ते हैं : तोल्सतोय की रचनाएँ
                   अं                                                              क्ष  त्र  ज्ञ 
अइया
अधखिला फूल
अपभ्रंश में हँसता हुआ आदमी
33 भ्रान्तिमान अलंकार
अक्टूबर के आरंभ की बरसती साँझ
अधखिला फूल
अपमान
34 मुक्तपद ग्राह्य कुण्डटलित यमक अलंकार
अक्टूबर की हथेली पर...
अधखिला फूल
अपमार्जक जरूरी हैं
35 मुद्रा अलंकार
अकड़ गया रमजानी
अधखिला फूल
अपूर्णता
36 मिथ्याध्यसवसित अलंकार
अकबरी लोटा
अधखिला फूल
अप्रतिहत
37 यमक अलंकार
अकर्ता
अधखिला फूल
अप्रैल की एक खूबसूरत सुबह बिल्कुल सही लड़की को देखने के बाद
38 रूपक अलंकार
अकर्मक क्रिया
अधखिला फूल
अप्रैल की एक सुखद सुबह सौ प्रतिशत संपूर्ण लड़की को देखने पर
39 ललित अलंकार
अकेले
अधखिला फूल
अपूर्वा
40 लेश अलंकार
अकेले तथा करुण होते गांधी और उनके विचार
अधखिला फूल
अपराध
41 लोकोक्ति अलंकार
अकेले में तुम्हारी उपस्थिति
अधखिला फूल
अपराध और अपराधी
42 विपरीत अलंकार
अकेले ही नहीं
अधखिला फूल
भाग : एक
43 विषादन अलंकार
अकेलेपन का एहसास
अधखिला फूल
भाग : चार
44 विशेषोक्ति अलंकार
अकेलेपन की कविता
अधखिला फूल
भाग : छह
45 विचित्र अलंकार
अकेला आदमी
अधखिला फूल
भाग : तीन
46 विभावना अलंकार
अकेला आदमी
अधखिला फूल
भाग : दो
47 विषम अलंकार
अकेला आदमी
अधखिला फूल
भाग : पाँच
48 विधि अलंकार
अकेला तू भी
अधखिला फूल
समापन
49 व्यतिरेक अलंकार
अकेलापन
अधखिला फूल
अपराधी
50 व्याघात अलंकार
अकेली औरतें
अधखिला फूल
अपरिचित
51 श्लेष अलंकार
अकेली औरत का रोना
अधखिला फूल
अपरिचिता
52 सन्देह अलंकार
अकेली औरत का हँसना
अधखिला फूल
अपवित्र कुंड
53 सार (उदार) अलंकार
अकेली स्त्री
समर्पण
अपहर्ता
54 समाधि (समाहित) अलंकार
अक्षत अस्तित्व
अधगले पंजरों पर
अपाहिज आबादी
55 स्मरण अलंकार
अक्स
अधपके अमरूद की तरह पृथ्वी
अपील का जादू
56 हेतु या काव्‍यलिंग अलंकार
अकस्मात नहीं है कुछ भी
अध्यारोहण है यह
अफतारी
57 क्षेपक अलंकार
अक्सर एक व्यथा
अधूरे अंत की शुरुआत
अफ्रीकी साहित्य और विद्वत्ता का भविष्य
अलग होना
अक्सर नजर आ जाता है दिल आँखों में
अधूरे प्रेम की पूरी दुनिया
अफसोस
अलग-अलग इंतजार
अकाट्य सिर
अधूरे में
अब ?
अलग-अलग कोण
अकाल के दृश्य
अधूरे ही
अब अक्सर चुप-चुप से रहे हैं
अलग-अलग तीलियाँ
अकाल में दूब
अधर-रस मुरली लूटन लागी
अब उठूँगी राख से
अलगाव
अकाल में सारस
अधूरा
अब कल आएगा यमराज
अलगौझा
अकाल मृत्यु
अधूरा चाँद
अब जब
अल्बर्ट
अकाल-दंड
अधूरी कविता
अब तक नहीं लिखा
अलमस्त
अखबार
अधूरी चीजें तमाम
अब भी
अल्लाहो अकबर
अखबार
अधूरी तस्वीर
अब भी
अलविदा गाज़ीपुर
अखबार का भविष्यफल
अधलेटा सा पड़ा पीपल
अब भी एक गाँव में रहती है वह...
अलविदाएँ
अखबार का रविवारीय-परिशिष्ट
अधिकतर मैं अपने लिए ही अजनबी हूँ
अब मैं
अलसाई उम्मीदें
अखबार पढ़ते हुए
अधिकार
अब मैं खुश हूँ
अलाव और चींटियाँ
अखबार में फोटो
अधिनायक
अब मैं नहीं याद करता तुम्हें
अलि अब सपने की बात
अखबारवाला
अधिनायक वंदना
अब मुझे चलना होगा
अंधे बाबा अब्दुल्ला की कहानी
अखबारी आदमी
अधिभूत
अब मेरी बारी!
अनाज के व्यापारी की कहानी
अखरावट
अनकहा ही रह गया कुछ
अब लिखो
अमात्य की कहानी
अखिलेश की कहानियों का राजनीतिक विमर्श
अनकही बात
अब वे कैसे कहेंगे ‘पथिक फिर आना’
अलादीन और जादुई चिराग की कथा
अगुआ
अनखेली बिसातें
अबकी अगर लौटा तो
अलीबाबा और चालीस लुटेरों की कहानी
अगन-हिंडोला
अनजाने द्वीप की कथा
अबकी बार, ले चल पार, ले चल पार ओ मेरे माँझी : बंदिनी
ईर्ष्यालु बहनों की कहानी
अग्नि परीक्षा
अनजान रिश्ता
अबकी मिलना तो !
ईरानी बादशाह बद्र और शमंदाल की शहजादी की कहानी
अग्निगर्भ
अनजान शहर
अबकी शाखों पर बसंत तुम !
ईसाई द्वारा सुनाई गई कहानी
अगर तुम्हें नींद नहीं आ रही
अनजाने शहरों के बाशिंदे हो गए
अब्दुल चाचा का छप्पर
उस आदमी की कहानी जिसके चारों अँगूठे कटे थे
अगर पंख होते
अनजानी राह
अब्दुल हमीद
एक स्त्री और तीन नौकरों का वृत्तांत
अगर मगर
अनंत के लिए क्षणिक बारिश
अबोले के विरुद्ध
कमरुज्जमाँ और बदौरा की कहानी
अगर यही प्रेम है
अनंत की 'खोज'
अभयदान
काले द्वीपों के बादशाह की कहानी
अग्रज के नाम
अनुत्क्रमणीय इतिहास
अभ्यास
काशगर के दरजी और बादशाह के कुबड़े सेवक की कहानी
अगरतला और कलाएँ
अन्ततः बस...
अभागा
काशगर के बादशाह के सामने दरजी की कथा
अगले मुहर्रम की तैयारी
अनुत्तरित
अभागिन प्रियतमा
किस्सा अमीना का
अगला मंगलवार
अनुत्तरित
अभिजात भाव-बोध की संरचना : संदर्भ निर्मल वर्मा की कहानियाँ
किस्सा गधे, बैल और उनके मालिक का
अगला स्टेशन
अन्‍त्‍यानुप्रास
अभिनेता और श्रमिक
किस्सा जुबैदा का
अगली भाषाओं की तलाश में
अन्तर
अभिनेता की निजी स्वायत्तता
किस्सा तीन राजकुमारों और पाँच सुंदरियों का
अगली यात्रा
अन्तर
अभिनंदन
किस्सा तीसरे फकीर का
अगली शताब्दी के प्यार का रिहर्सल
अन्तर्दृष्टा
अभिनय
किस्सा तीसरे बूढ़े का जिसके साथ एक खच्चर था
अगली सदी का शोधपत्र
अनुताप की महिमा
अभिनय
किस्सा दूसरे बूढ़े का जिसके पास दो काले कुत्ते थे
हिंदी चिंतन और चिंता के आयाम
अन्तिम इच्छा
अभिनय
किस्सा बूढ़े और उसकी हिरनी का
अगली सदी तक
अन्तिम प्यार
अभिनय की संकरी गली के सरताज भारत भूषण
किस्सा व्यापारी और दैत्य का
अगली हराई के लिए
अनंतिम मौन के बीच
अभिभूत
खलीफा हारूँ रशीद और बाबा अब्दुल्ला की कहानी
अगस्त के बादल
अन्तिम विनिमय
अभिमन्यु की आत्महत्या
ख्वाजा हसन हव्वाल की कहानी
अगिन लाल लोहित
अन्धेर नगरी
अभिलाषा
गनीम और फितना की कहानी
अगिन-खान
अन्न-जल
अभिव्यक्ति
गरीक बादशाह और हकीम दूबाँ की कथा
अगिया बैताल
अन्नपूर्णा मंडल की आखिरी चिट्ठी
अभिव्यक्ति
जवान और मृत स्त्री की कहानी
अघायी औरतें
अनुनाद
अभिव्यक्ति की आजादी और ब्लॉंगिंग की आचार संहिता
दरजी की जबानी नाई की कहानी
अघोषित उलगुलान
अनपढ़
अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता बनाम सोशल मीडिया : सहमति का विवेक और असहमति का साहस
दरियाबार की शहजादी की कहानी
अचूक खुशियाँ
अनुपमा का प्रेम
अभिशप्त
दूसरे फकीर की कहानी
अच्छे आदमी की कविताएँ
अनुपस्थित
अभिषेक
नूरुद्दीन अली और बदरुद्दीन हसन की कहानी
अच्छे दिन आने वाले हैं
अनुपस्थिति
अभिसार
नूरुद्दीन और पारस देश की दासी की कहानी
अच्छे दिनों का डर
अनुपस्थिति
अभिसार
नाई के कुबड़े भाई की कहानी
अच्छे बच्चे
अनुपात
अभिसार
नाई के चौथे भाई काने अलकूज की कहानी
अच्छे लोगों ने उठा रखी है पृथ्वी सिर पर
अनब्याही औरतें
अभी
नाई के छठे भाई कबक की कहानी जिसके होंठ खरगोश की तरह के थे
अच्छा लगता है
अनबोला
अभी तक बारिश नहीं हुई
नाई के तीसरे भाई अंधे बूबक की कहानी
अच्छा लगा
अनुभूति
अभी पूँजीवाद का संरचनात्मक संकट है
नाई के दूसरे भाई बकबारह की कहानी
अच्छी कुंठा रहित इकाई
अनुभूति
अभी परिंदों में धड़कन है
नाई के पाँचवें भाई अलनसचर की कहानी
अच्छी कविताएँ
अनुभूति
अभी बचे हैं हम
पहले फकीर की कहानी
अच्छी खबर
अनुभव
अभी सबसे पहले
बगदाद के व्यापारी अली ख्वाजा की कहानी
अच्छी खासी
अनुभव
अभी समय है
भद्र पुरुष और उसके तोते की कथा
अच्छी नहीं लगतीं अच्छी लगने वाली चीजें इन दिनों
अनुभव के भेस में विचार - उपन्यास
अभी-अभी उसने पहनी है उम्र सोलह की...
भूमिका
अच्छी हिन्दी
अनुभव के लिए कोई शब्द
अमृत कुंड
भले आदमी और ईर्ष्यालु पुरुष की कहानी
अचल तलवार
अनुभव की चटख आग में पकती कहानियाँ
अमृत निवास
मछुवारे की कहानी
अछूत की शिकायत
अनमिट परछाईं
अमृतलाल नागर : जीवन-वृत्त
मजदूर का संक्षिप्त वृत्तांत
अछूत जनता !
अनमोल भेंट
अमृतसर आ गया है
यंत्र के घोड़े की कहानी
अजगर करे न चाकरी
अनुयायियों ने गांधी को माना असफल व्यक्ति : गिरिराज किशोर
अमन का गीत
यहूदी हकीम द्वारा वर्णित कहानी
अज्ञेय : दिक् और काल के बरक्स
अनुयायी
अमन का राग
लँगड़े आदमी की कहानी
अज्ञेय : परंपरा, प्रयोग और आधुनिकता
अनर्गल
अम्मा
शहजादा अबुल हसन और हारूँ रशीद की प्रेयसी शमसुन्निहार की कहानी
अज्ञेय : बहुआयामी व्यक्तित्व
अनवांटेड 72
अम्मा रहतीं गाँव में
शहजादा अहमद और परीबानू की कहानी
अज्ञेय : वैकल्पिक आधुनिकता के कवि
अनुवाद
.
शहजादा खुदादाद और दरियाबार की शहजादी की कथा
अज्ञेय और हिंदी पत्रकारिता
अनुवादक रामविलास शर्मा
अमर प्रेम का क्षण
शहजादा जैनुस्सनम और जिन्नों के बादशाह की कहानी
अज्ञेय के जीवन की प्रमुख घटनाएँ
अनुवादक शमशेर
अमरकंटक
शहरयार और शाहजमाँ की कहानी
अज्ञेय के निबंध : ‘मृण्मय के द्वारा चिन्मय की खोज’
अनशन
अमूर्त हर्फों में लिखे हुए
सिंदबाज जहाजी की कहानी
अज्ञेय के साहित्य में मृत्यु-दर्शन
अनहद की जद में युवा कला
अमरता का स्वप्न
सिंदबाद जहाजी की चौथी यात्रा
अज्ञेय का कृतित्व
अनहद बाजा बाजै
अमरूद का पेड़
सिंदबाद जहाजी की चौथी यात्रा
अज्ञेय का प्रकृति काव्य
अन्हरिया रात बैरनिया हो राजा
अमरूद बन गए
सिंदबाद जहाजी की छठी यात्रा
अज्ञेय का भाषा चिंतन
अनहरी हरियाली
अमरफल
सिंदबाद जहाजी की तीसरी यात्रा
अज्ञेय का यात्रा साहित्य
अनाथ
अमेरिका मुझे क्यों पसंद नहीं है
सिंदबाद जहाजी की दूसरी यात्रा
अज्ञेय का स्वातंत्र्य - विमर्श
अनाप्तकामिनी
अमरीका में हिंदी : एक सिंहावलोकन
सिंदबाद जहाजी की पहली यात्रा
अज्ञेय की कविता
अनाबेल ली
अमरीखान के लमडे
सिंदबाद जहाजी की पाँचवी यात्रा
अज्ञेय की कहानियों में प्रयुक्त भाषा रूप
अनार्यों की देन
अमिट स्मृति
सिंदबाद जहाजी की सातवीं यात्रा
अज्ञेय की काव्यभाषा संबंधी अवधारणा एवं प्रयोग
अनावरण
अमीर खुसरो
सीदी नोमान की कहानी
अज्ञेय की पत्रकारिता
अनास्था के जंगल में आस्था की खोज
अमीरों का कोरस
सोते-जागते आदमी की कहानी
अज्ञेय की पत्रकारिता और सामाजिक सरोकार
अनोखा दान
अमौसा के मेला
अलीशिर नवाई का देश और मोनालिसा का नशा
अज्ञेय से
अनोखी यह परिचित मुस्कान
अयन वृत्त
अवकाश
अज्ञातकुलशील
अपेक्षा
अयाचित
अवगुंठन
अज्ञातवास
अपेक्षा
अयोध्या
अवगुन गाथा
अजुध्या की लपटें
अपेक्षाएँ
अयोध्या - 1
अवतारवाद का समाजशास्त्र और लोकधर्म
अजनबी
अपेक्षाओं के सिंधु
अयोध्या - 2
अवैध सुख
अजनबी देश है यह
अपत्‍नी
अयोध्या - 3
अवधूत
अजूबे की बेचैनी
अपदस्थ
अयोध्या - 4
अवधी कविताएँ
अजूबा रंगमंच
अपने अंतर में ढालो !
अयोध्या – 5
अव्यय
कथा-प्रसंग
अपने अंदर से बाहर आ जाओ
अयोध्या - 6
अवसर
तृतीय अंक
अपने आँगन से दूर
अयोध्या में प्रेम
अवसान
द्वितीय अंक
अपने आदिम रूप में
अयोध्या, 1992
अवांछित
प्रथम अंक
अपने आप में
अरे अब ऐसी कविता लिखो
अवांतर प्रसंग
अजीब कहानी
अपने बारे में
अरे पुरुषजन! (अवधी आल्हा)
अवांतर-कथा
अजीब दृश्य है यह
अपने बारे में
अरे, यायावर रहेगा याद : अनुभव से अनुभूति तक की यात्रा
अविगत गति कछु कहत न आवै
अजीब दास्ताँ है ये...
अपने लिए, शमशेर
अर्जुन कवि का रचना-संसार
अविज्ञापित
अजीमुल्लाक दार्शनिक नहीं
अपने विरुद्ध
अर्जी
अविस्मरणीय कविताएँ
अटल सत्य
अपने सच में झूठ की मिक्दार थोड़ी कम रही
अरुण दीपिका के नाम : हे राम
अविस्मरणीय मुद्रा जी
अटलमय रहा विश्व हिंदी सम्मेलन
अपने समय की अभिधा में
अरण्य जीते हैं
अविस्मरणीय विभूति : सत्यजित राय
अड्डे पर कविता
अपने-अपने अजनबी
अरण्य-रोदन
अश्रु मेरे माँगने जब
अड़हुल की वापसी
सेल्मा
अर्थ
अशरफी
अड़ियल साँस
योके
अर्थ
अश्लील
अत्याचारियों के स्मारकों पर धर्मलेख
योके और सेल्मा
अरथ अमित अति आखर थोरे
अश्लील
अत्याचारियों की थकान
अपनेआप
अर्थ कामना
अश्लीलता, आत्मा की
अत्याचारी के प्रमाण
अपनेपन का मतवाला
अर्थ खोना जमीन का
अशोक
अति सूधो सनेह को मारग है
अपनेपन का लेखा
अर्थ प्रेम का
अशोक के फूल
अतिचार
अपना अधिकार
अर्थ बौना हो गया है
अशोक का प्रायश्चित
अतिथि
अपना आप हिसाब लगाया
अर्थ-विस्तार
असंगत
अतिथि
अपना खाना ख़ुद गर्म करो
अर्थशास्त्री सुब्रमण्यम स्वामी से बातचीत
असत्य ही सत्य है
अतिथि देवो भव
अपना गेहूँ
अर्धकथानक : हिंदी की पहली आत्मकथा
अस्त्र जो सज्जा है
अतिथि! तुम कब जाओगे
अपना चिमटा गाड़े बैठे हैं
अरुंधती
अस्तित्व
अतिरिक्त कविता
अपना भैंसा अपनी गाड़ी
अर्धांगिनी
अस्तित्व
अतीत के प्रेत
अपना वनवास
अरेबा परेबा
अस्तित्व
अतीत का आध्यात्मिक सफर : दतिया-ओरछा
अपना समय लिखा
अलकापुर
अस्तित्व
अतीत का उत्सव और उत्सव का अतीत
अपना ही देश
अलंकार
अस्तित्व
अतीत की परछाइयाँ
अपना-अपना नर्क
अलंकार
अस्तित्व मेरा...
अथ अचारोत्सव
अपना-अपना शून्य
अलंकार
असंदिग्ध एक उजाला
अथ काशी प्रवेश
अपना-पराया
अलंकार
अस्पताल में पिता
अथ दोहा शिक्षावली-इष्टै बंदना
अपनी अपनी बीमारी
अलंकार
अस्पृश्यता - उसका स्रोत
आठ
अपनी कैद
01 अलंकार के आवश्यकता
असफल आदमी
एक
अपनी कविता
02 अन्योरक्ति अलंकार
असफलता
ग्यारह
अपनी खबर
03 अनिर्णीत अलंकार
असंबद्ध
चार
असंबल गान
04 अपह्नुति अलंकार
असभ्य वाक्य
चौदह
चुनार
05 असंगति या असंगत अंलकार
असंभव सत्य
छह
जीवन-संक्षेप
06 अर्थान्त रन्याकस अलंकार
असंभव है
तेरह
दिग्दर्शन
07 अतिशयोक्ति अलंकार
असम्भव
तीन
धरती और धान
08 असम्भाव अलंकार
अस्मिताओं में कैद इतिहास : जॉर्ज अब्राहम ग्रियर्सन
दस
नागा भागवतदास
09 अनुप्रास अलंकार
असल बाजार में
दो
पं. कमलापति त्रिपाठी
10 अतद्गुण अलंकार
असल संबंध
नौ
पं. जगन्नाथ पाँडे
11 आक्षेप अलंकार
असलियत
पंद्रह
पं. बाबूराव विष्णु पराड़कर
12 उत्प्रेपक्षा अलंकार
असली बात
पाँच
प्रवेश
13 उल्लेख अलंकार
असली व्यवस्था परिवर्तन की बात : परदे पर
बारह
बच्चा महाराज
14 उपमा अलंकार
असली स्वर्ग
सात
बनारस और कलकत्ता
15 एकावली अलंकार
अस्वस्थ होने पर
अथ श्री संकल्प-कथा
बाबू शिवप्रसाद गुप्त
16 कारणमाला अलंकार
अस्वीकार का साहस
अथ सवर्ण स्त्री प्रति-आख्यान
भानुप्रताप तिवारी
17 क्रम या यथासंख्‍य अलंकार
असहमति
अद्भुत
राममनोहरदास
18 काव्‍यार्थापत्ति अलंकार
असहमतियाँ
अद्भुत एक अनूपम बाग
लाला भगवान ‘दीन’
19 तुल्‍ययोगिता अलंकार
असीम
अद्भुत संयोगों से भरी अद्भुत प्रेम कहानी : मैप ऑफ द ह्यूमन हार्ट
अपनी छत
20 तदगुण अलंकार
अह ब्रह्मास्मि
अद्भुत है कला
अपनी तरफ ध्यान बँटाने के लिए नदी तोड़ती है तटबंध
21 दृष्‍टांत अलंकार
अह... हह...
अदम गोंडवी का निरालापन
अपनी तस्वीर
22 दीपक अलंकार
अहेरी
अदला-बदली
अपनी पराजयों-विजयों का हिसाब
23 निरुक्ति अलंकार
अहल्या
1 भूमिका
अपनी पुस्तकें अपने ही पास रखें
24 निदर्शना अलंकार
अहं-विखण्डन
अदृश्य दृश्य
अपनी पीढ़ी के लिए
25 परिकरांकुर अलंकार
अहा ग्राम्य जीवन भी...
अदृश्य होते हुए
अपनी बात
26 परिसंख्‍या अलंकार
अहा! क्या सुंदर देश हमारा
अदालत के सामने लिखित बयान
अपनी भाषा
27 पिहित अलंकार
अहिंसा - विश्वकोश खंड 2
अधकपारी
अपनी शक़्ल
28 प्रतिषेध अलंकार
अहिंसा - विश्वकोश खंड 1
अधखिला फूल
अपनी साँसों से
29 प्रत्येनीक अलंकार
अहिंसा - विश्वकोश खंड 3
अधखिला फूल
अपनी ही डाल
30 प्रहर्षण अलंकार
अहिंसा - विश्वकोश खंड 4
अधखिला फूल
अपनी-अपनी गति
31 परिवृत्ति अलंकार
अहिंसा - विश्वकोश खंड 5
अधखिला फूल
अपनों के मन का
32 प्रौढ़ोक्ति (सम्बन्धारतिशयोक्ति) अलंकार